साउथ का ये स्टार होगा.. बॉलीवुड का अगला.. अक्षय कुमार!

साल 2015 में बाहुबली रिलीज हुई। लार्ज कैनवास पर बनी यह फिल्म ने एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के लिए एक नायाब तोहफा साबित हुई। इस फिल्म की दमदार कहानी और लाजवाब कास्टिंग ने साउथ सिनेमा के साथ हिंदी फिल्म को भी कई यादगार किरदार दिए। बाहुबली , कटप्पा और भल्लाल देव के किरदार ने साउथ के कई एक्टरों को लोकप्रियता के साथ एक अमिट पहचान दी। इस फिल्म ने कई एक्टरों के करियर को एक दिलचस्प मोड़ दियाा। भल्लाल देव की भूमिका निभाने वाले राणा दग्गुबाती उन्हीं में से एक हैं। बाहुबली के रिलीज के कुछ दिनों में राणा साउथ फ़िल्म इंडिस्ट्री के चर्चित एक्टरों की फेहरिस्त में शामिल हो गए। आलम यह हुआ कि हिंदी फिल्मों के दर्शकों में भी उनकी लोकप्रियता रातों रात उफान पर आ गई। बाहुबली राणा के लिए गेम चेंजर साबित हुई। इस फिल्म में निगेटिव भूमिका में होने के बावजूद राणा हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री के टॉप फिल्ममेकर्स की पहली पसंद बन गए। 2011 में बिपाशा बसु के साथ दम मारो दम से हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री से उन्होंने दस्तक दी। लेकिन उनके लिए मामला कुछ जम नहीं पाया। बॉलीवुड में उनकी यह शुरुआत नाकामयाब रही। साल 2015 में बाहुबली से एंट्री लेकर उन्होंने अपने आलोचकों को करारा जवाब दिया। साल 2017 भी उनके लिए दिलचस्प होने वाला है। इस साल बाहुबली से पहले राणा द गाजी अटैक से हिंदी के साथ तमिल और तेलुगु सिनेमा में फिर हलचल मचाने आ रहे हैं। भारत के पहले समुद्री युद्ध पर बनी यह फिल्म अपनी कहानी के साथ राणा की परफॉरमेंस को लेकर भी चर्चा में हैं। ऐसे कम ही एक्टर होते हैं जो हर किरदार में खुद को बखूबी ढाल लेते हैं। बाहुबली में निगेटिव किरदार हो या द गाजी अटैक में देशभक्त का किरदार, अक्षय कुमार की तरह वह खुद को हर भूमिका में खुद को परफेक्ट फिट करने में कामयाब होते हैं। चलिए जानते हैं कि कैसे राणा हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के दूसरे अक्षय कुमार बन सकते हैं।

1- फिल्मों का चयन

महज सात साल पहले राणा ने अपने करियर की शुरुआत तेलुगु फिल्म लीडर से की। उसके ही अगले साल बिना समय गवाएं उन्होंने दम मारो दम से हिंदी फिल्मों में डेब्यू किया। साउथ फिल्म इंडस्ट्री में वह लगातार बने रहे। लेकिन हिंदी फिल्मों के मामले में उन्होंने थोड़ा समझ कर चलने में भलाई समझी। अक्षय कुमार स्टारर बेबी में जय सिंह राठौड़ के पैरलल भूमिका के बाद बाहुबली और अब द गाजी अटैक से वह हिंदी सिनेमा में अटैक करने जा रहे हैं।

2- हीरो

बाहुबली में भले ही उनके विलेन की भूमिका को पसंद किया गया हो। लेकिन रोमांटिक हीरो के किरदार में भी उन्होंने अपनी मौजूदगी दर्ज करवाई है। दम मारो दम में उनकी जोड़ी बिपाशा बसु के साथ पसंद की गई। यहां तक कि उन्हें इसी फिल्म के लिए फिल्मफेयर के पुरस्कार सूचि में शामिल किया गया। उन्होंने जी सिने अवार्ड भी अपने नाम किया।

3-विलेन

बाहुबली एक ऐसी फिल्म है, जिसमें हीरो और विलेन के बीच बराबर की लड़ाई देखने को मिलती है। अगर पूरे व्यक्तित्व की बात आती है तो प्रभास को राणा कड़ी टक्कर देते हैं। तभी स्क्रीन पर राणा की उपस्थिति देखते ही बनती है।

4 -देशभक्त

द गाजी अटैक में वह देशभक्त नेवी ऑफिसर की भूमिका निभा रहे हैं। यह भारत की पहली समुद्री लड़ाई पर आधारित फिल्म है। इस फिल्म में उन्हें नेवी ऑफिसर की भूमिका में देखते हुए दर्शकों को बाहुबली को खतरनाक खलनायक नहीं नजर आएगा। यह खूबी बहुत कम एक्टर में देखने को मिलती है, जो कभी टाइपकास्ट नहीं हो सकते हैं।

5 -एक्शन

बाहुबली में हम राणा को एक्शन सीन करते हुए देख चुके हैं। द गाजी अटैक में भी उन्होंने कई अंडर वॉटर स्टंट खुद किए हैं। यहां तक कि शूटिंग के दौरान कई दिनों तक उन्हें सूरज देखना भी नसीब नहीं हुआ। द गाजी अटैक जैसी मल्टी कास्टिंग फिल्म में भी उन्होंने खुद के किरदार को उभारने के लिए कड़ी मेहनत की है।

6-काम की रफ्तार

बैक टू बैक राणा लगातार एक से बढ़कर एक फिल्म का हिस्सा बनते जा रहे हैं। बाहुबली 2 की शूटिंग में व्यस्त होने के बावजूद उन्होंने कई प्रमुख प्रोजेक्ट को प्राथमिकता दी। अच्छी बात यह है कि उन्होंने खुद को केवल तमिल और तेलुगु फिल्मों में बांध कर नहीं रखा है। उनकी लोकप्रियता को देखते हुए , द गाजी अटैक हिंदी के साथ तेलुगु और तमिल भाषा में भी रिलीज की जा रही है।

7 -तेज दिमाग

किरदार और कहानी के लिहाज से वह अपने लिए ऐसी फिल्मों का चुनाव कर रहे हैं ,जो बाकी फिल्मों से अलग हो। बाहुबली और द गाजी अटैक उनमें प्रमुख है। इसके साथ एक ही फिल्म के तीन भाषाओं में रिलीज होने का फायदा एक्टर को हर भाषा के दर्शकों तक पहुंचने का कारगार रास्ता देता है। इससे उसकी लोकप्रियता बनी रहती ह। राणा भी इसी प्लानिंग के तहत काम कर रहे हैं, खासकर एक्शन फिल्मों के लिए वह खुद को परफेक्ट मानते हैं। इस तरह की फिल्में उनकी पहली पसंद हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *