नीरा का बढ़ा क्रेज, लोगों ने लिया हाथों-हाथ

बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू है. शराबबंदी के बाद बिहार सरकार ने खजूर के रस को नीरा बनाकर लोगों के सामने पेश किया है. जानकारी के मुताबिक लोगों में नीरा का क्रेज बढ़ गया है. मांग इतनी है कि मार्केट में आने के थोड़ी देर बाद ही नीरा आउट ऑफ स्टॉक हो गया. लोगों को इसका स्वाद ऐसा भा रहा है कि लोग इसका जमकर सेवन करते दिख रहे हैं. बिहार के कई जिलों में नीरा उपलब्ध होने लगा है. हालांकि यह भी बताया जा रहा है कि जैसी नीरा की मांग है, वैसी आपूर्ति नहीं हो पा रही है. सुबह में दुकानों में जीविका द्वारा नीरा भेजा जाता है, लेकिन दोपहर होते-होते मार्केट से खत्म हो जाता है. शराबबंदी के बाद से बिहार में चोरी-छुपे शराब बिकने की घटनाएं बढ़ी हैं. भारी मात्रा में अवैध शराब का पकड़ा जाना भी जारी है. अधिकारिक सूत्र बताते हैं कि नीरा के आने से अवैध शराब की तस्करी में कमी आयेगी. दुकानदारों को एक दिन में पचास लीटर नीरा उपलब्ध कराया जा रहा है. दुकानदारों का कहना है कि मांग इतनी ज्यादा है कि यदि 200 लीटर भी आये तो वह आराम से बिक जायेगा. एक ग्लास नीरा को 15 रुपये में बेचा जा रहा है. पीने वाले लोगों का कहना है कि यह स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक है. इसके पीने से शरीर में ताजगी बनी रहती है. किसानों को नीरा का उत्पादन बढ़ाने के लिए सरकार सहयोग देने में भी लगी है. स्वयं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसकी मॉनेटरिंग कर रहे हैं. सूबे के किसानों ने नीरा के पैकेजिंग और बॉटलिंग की व्यवस्था  कराने की मांग मुख्यमंत्री से की है.किसान चाहते हैं कि नीरा ज्यादा समय तक सुरक्षित रखी जा सके. लोग इसे काफी पसंद कर रहे हैं.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *