दीवाली पर रेलवे, एयरलाइंस की चांदी

दीवाली पर भारी भीड़ को देखते हुए न सिर्फ एयरलाइंस बल्कि इंडियन रेलवे भी पैसेंजरों की मजबूरी का फायदा उठा रहा है. नतीजा यह है कि रेलवे स्पेशल ट्रेनें मुहैया कराने के नाम पर पैसेंजरों से 25 से 50 फीसदी तक ज्यादा किराया वसूल रहा है. यही हाल एयरलाइंसेज का भी है, जो दिल्ली से लखनऊ तक के लिए ही 13 से 15 हजार रुपये में टिकट बेच रही हैं. इंडियन रेलवे हर साल त्योहारों पर पैसेंजरों की जरूरत को देखते हुए अतिरिक्त ट्रेनें चलाता है. आमतौर पर यह माना जाता है कि रेलवे पैसेंजरों की सुविधा को देखते हुए यह अतिरिक्त इंतजाम करता है, लेकिन इस बार रेलवे दीवाली से पहले पैसेंजरों को यह सुविधा देने के नाम पर जो ट्रेनें चला रहा है, उनमें वह अतिरिक्त पैसा वसूल रहा है. उत्तर रेलवे ने जो डेढ़ सौ अतिरिक्त ट्रेनें चलाने की घोषणा की है, उनमें 10 जोड़ी ट्रेनें सुविधा हैं और 60 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें हैं. हालांकि देखने में लगता है कि स्पेशल ट्रेनों में वही किराया लिया जाता होगा, जो सामान्य तौर पर लिया जाता है, लेकिन सच्चाई यह है कि जिन ट्रेनों को स्पेशल ट्रेनें कहा जा रहा है, वे प्रीमियम ट्रेनें हैं यानी उनमें पैसेंजरों को नॉर्मल के साथ ही तत्काल का शुल्क भी देना होगा. इसी तरह से जो सुविधा ट्रेनें हैं, उनमें सर्ज प्राइजिंग रखी गई है यानी हर 20 फीसदी सीटें फुल होने के बाद उसका किराया बढ़ जाता है. लखनऊ के एक पैसेंजर के मुताबिक, उन्होंने लखनऊ से नई दिल्ली के लिए एक नवंबर को इनमें से ही एक स्पेशल ट्रेन का टिकट बुक कराया तो उनसे 1,070 रुपये प्रति यात्री लिए गए, जबकि कायदे से उस रूट पर किराया 810 रुपये होता है. यही नहीं, कई रूटों पर तो पैसेंजरों को 50 फीसदी तक ज्यादा रेल किराया देना पड़ रहा है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *