मानव श्रृंखला में राजद-कांग्रेस भी हो शामिल : सुशील मोदी

उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आज राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस समेत सभी विपक्षी पार्टियों से दहेज प्रथा और बाल विवाह जैसी कुरीतियों के खिलाफ 21 जनवरी को बनने वाली मानव श्रृंखला में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर शामिल होने की अपील की। मोदी ने यहां कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राज्य से लेकर बूथ स्तर तक की सभी इकाइयां और कार्यकर्ता दहेज एवं बाल विवाह के खिलाफ 21 जनवरी को आयोजित मानव श्रृंखला में भाग लेंगे और दूसरों को भी शामिल होने के लिए प्रेरित करेंगे। उन्होंने राजद और कांग्रेस सहित सभी विपक्षी पार्टियों से भी उन्होंने दलीय राजनीति से ऊपर उठ कर सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ मानव श्रृंखला में शामिल होने की अपील की है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार के हित में राजद और कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों के नेता एवं कार्यकर्ता मानव श्रृंखला में शामिल होकर आम जनता को बाल विवाह और दहेज जैसी कुप्रथा को ‘ना’ कहने के लिए प्रेरित करें। मोदी ने कहा कि पिछले साल विपक्ष में रहने के बावजूद शराबबंदी को सफल बनाने और जन जागरुकता के लिए आयोजित मानव श्रृंखला में भाजपा के राज्य से लेकर पंचायत स्तर तक के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शराबबंदी का समर्थन किया था। उन्होंने कहा कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव इस मानव श्रृंखला में शामिल तो हुए लेकिन बाद में प्रधानमंत्री और शराबबंदी का मजाक उड़ाने लगे थे। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि दहेज और बाल विवाह जैसी सामाजिक कुरीतियों और इससे समाज को होने वाले नुकसान का संदेश जन-जन तक पहुंचाने के लिए तमाम बिहारवासी अधिक से अधिक संख्या में मानव श्रृंखला में शामिल हों। उन्होंने कहा कि राज्य के लोग इस मानव श्रृंखला में शामिल होकर न केवल इसे सफल बनायें बल्कि पिछले साल के रिकाॅर्ड को भी तोड़ें। मोदी ने कहा कि बिहार देश का पहला राज्य है जो आर्थिक प्रगति की दिशा में तेजी से आगे बढ़ने के साथ ही सामाजिक कुरीतियों के खात्मे के लिए भी प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा, “बाल विवाह को जड़ से उखाड़कर जहां हम महिलाओं के स्वास्थ्य की रक्षा करेंगे वहीं दहेज के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद कर अनेक जिन्दगियों और परिवारों को बर्बाद होने से बचा सकेंगे।”

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *