पाक ने आतंकवादियों के विरूद्ध जारी किया फतवा

आतंकवाद, उग्रवाद व पृथकतावाद से ग्रस्त पाकिस्तानी गवर्नमेंट ने मंगलवार (16 जनवरी) को 1800 से अधिक इस्लामिक विद्वानों के दस्तखत से धार्मिक उद्देश्य के लिये आत्मघाती विस्फोट करने समेत हिंसा करने वालों के विरूद्ध फतवा जारी किया। इस्लामाबाद की इंटरनेशनल इस्लामिक युनिवर्सिटी की देख-रेख में तैयार किये गये फतवे को ‘पैगाम-ए-पाकिस्तान’ का नाम दिया गया व यहां एक भव्य समारोह में जारी किया गया। पाक के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने फतवा जारी करने के मौके पर उपस्थित जनसभा को संबोधित करते हुये बोला कि यह पहल इस बात को जाहीर करता है कि पूरा राष्ट्र इस मुद्दे पर बेहद गंभीर है । उन्होंने आतंकियों व इस्लामिक कट्टपंथियों का हवाला देते हुये कहा, ”मुझे भरोसा है कि इस्लाम की सच्ची एजुकेशन के प्रकाश में किया गया यह फैसला उनका दिल बदलाव कर देगा व उनके उद्धार का मार्ग प्रशस्त करेगा । ” बताते चलें कि यह फतवा ऐसे समय में जारी किया गया है जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाक को अपनी धरती से पनपने वाले आतंवादी समूहों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करने की हाल में चेतावनी जारी की थी ।पाकिस्तान गवर्नमेंट ने एक बयान में बोला कि यह फतवा चरमपंथ व आतंकवाद के विरूद्ध पाक की कटिबद्धता का भाग है । धार्मिक विद्वानों सांसदों, बुद्धिजीवियों व नीति निर्माताओं ने इसका समर्थन किया है । फतवे में सशस्त्र प्रयत्न को देश, उसकी गवर्नमेंट अथवा सशस्त्र बलों के विरूद्ध बताया गया है । इसमें बोला गया है कि इस्लामिक संविधान के प्रावधान को लागू करना गवर्नमेंट की जिम्मेदारी है, लेकिन यह इसके लिये बलों के इस्तेमाल को प्रतिबंधित करता है ।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *