स्टॉक और मांग घटने से गेहूं और चावल कीमतों में आई गिरावट

बाजार में पर्याप्त स्टॉक होने के मुकाबले मांग घटने के कारण राष्ट्रीय राजधानी, दिल्ली के थोक अनाज बाजार में बीते सप्ताह गेहूं और चावल बासमती की कीमतों में गिरावट आई। हालांकि उपभोक्ता उद्योगों का उठाव बढ़ने से कुछ अन्य मोटे अनाज की कीमतों में तेजी आई। बाजार सूत्रों ने कहा कि उत्पादक क्षेत्रों से आपूर्ति बढ़ने की वजह से पर्याप्त स्टॉक होने से मुख्यत: गेहूं की कीमतों में गिरावट आई। उन्होंने कहा कि फुटकर कारोबारियों की सुस्त मांग के कारण बासमती चावल की कीमतों में भी गिरावट आई। राष्ट्रीय राजधानी में गेहूं दड़ा :मिल के लिए: की कीमत 20 रुपये की गिरावट के साथ 1,750 – 1,755 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुई। आटा चक्की डिलीवरी की कीमत भी समान अंतर की गिरावट के साथ 1,760 – 1,765 रुपये प्रति 90 किलोग्राम का बैग पर बंद हुई।  गेहूं के गिरावट के रुख के ही अनुरूप आटा फ्लोर मिल और मैदा की कीमतें भी 10 – 10 रुपये की गिरावट के साथ क्रमश: 950 – 960 रुपये और 970 – 980 रुपये प्रति 50 किग्रा रह गई। चावल बासमती कॉमन और पूसा – 1121 किस्म की कीमतें भी 100 – 100 रुपये की गिरावट के साथ क्रमश: 7600 – 7,700 रुपये और 6,700 – 6,800 रुपये प्रति क्विन्टल रह गई। बाजरा और मक्का जैसे अन्य मोटे अनाजों की कीमतें बढ़कर क्रमश: 1,210 – 1,215 रुपये और 1,440 – 1,445 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुई। ये कीमतें पिछले सप्ताहांत क्रमश: 1,200 – 1,205 रुपये और 1,425 – 1,430 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुई थीं। जौ की कीमत तेजी के साथ 1,490 – 1,500 रुपये प्रति क्विन्टल पर बंद हुई जो पहले 1,475 – 1,480 रुपये प्रति क्विन्टल पर बंद हुई थी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *