उपमुख्यमंत्री ने पश्चिम चंपारण में किया कई योजनाओं का उद्घाटन

बिहार डेस्क-सतेंद्र पाठक-प. चंपारण

बिहार प्रदेश के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को प.चम्पारण के जगदीशपुर, रानीपुर रमपुरवा, अवरैया तथा घोघा घाट चार जगहों पर नीर निर्मल एकल ग्रामीण जलापूर्ती योजना का उद्धाटन किया। इस मौके पर उनके साथ पीएचइडी मंत्री विनोद नारायण झा भी मौजूद थे। पीएचइडी मंत्री ने कहा कि जिसमें बहु ग्रामीण आपूर्ति योजना के तहत घोघा घाट में 32 करोड़ 85 लाख की लागत से नीर निर्मल परियोजना के तहत जल मिनार, जगदीशपुर में 2 करोड़ 58 लाख, रानीपुर रमपुरवा में 1 करोड़ 97 लाख तथा औरैया में 1 करोड़ 92 लाख की लागत से जल मिनार का निर्माण किया गया है।

मिडिया को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने सरकार की उस संकल्प को दोहराया कि अब ग्रामीण चापाकल का पानी नही, बल्कि उनके घर में लगे नल का पेय- जल उपयोग करेंगे। उन्होंने चार नये योजनाओं की भी घोषणा की, जिसके अंतर्गत बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत प्रत्येक किसानों को बीस प्रतिशत फसल क्षति पर प्रत्येक हंक्टेयर 7.5 हजार तथा बीस प्रतिशत से अधिक की क्षति पर प्रति हेक्टेयर दस हजार का अनुदान दिया जायेगा। इसके लिए किसानों का अपना भूमि होना जरूरी नही है। उसके लिए प्रत्येक किसानों को अपना निबंधन कराना होगा। ताकि उन्हें पहचान पत्र निर्गत कि जा सके, ताकि उसी अधार पर सरकार के विभिन्न योजनाओं का लाभ उन्हें मिल सके। आगे उन्होंने कहा कि दूसरी योजना मुख्यमंत्री ग्रामीण परिवहन योजना है। जिसके तहत ग्रामीणों को गांव से प्रखंड मुख्यालय तक जाने में सुविधा मिलेगी। इसके लिए प्रत्येक पंचायत में पांच नवयुवक होंगे। जिसमें तीन अनुसुचित जाति तथा दो अति पिछड़ी जाति के नौजवानों को वाहन के रूप में चार से दस सीट तक के वाहन के खरीदारी में अधिकतम 1 लाख तथा इससे उपर के वाहनों में 50 प्रतिशत तक का अनुदान उन्हें मिलेगा। वही तीसरा स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत दसवीं तथा बारहवी के उत्तीर्ण छात्रों को उच्च शिक्षा हेतू 4 लाख तक का ऋण उन्हें उपलब्ध कराया जायेगा। जिसका ब्याज उन्हें चार प्रतिशत समान्य रूप से देय होगा तथा लड़कियों एंव दिव्यांग छात्रों को यह ब्याज केवल एक प्रतिशत ही देय होता। जिसके तहत अभी तक दस हजार छात्रों ने इसका लाभ उठाया है। उन्होंने आगे कहा कि गांव से शहर में रहकर पढ़ने वाले लड़को के रहने हेतू उनके श्रेणी के अनुसार 26 से 36 हजार रूपये प्रतिवर्ष अनुदान के रूप में दिया जायेगा। वहीं उप मुख्यमंत्री ने कहा कि चौथी योजना के तहत कल्याण छात्रवास में रहने वाले अनुसुचित जाति, जनजाति एंव अल्पसंख्यकों को 15 किलों प्रतिमाह अनाज उनके कमरों तक मुफ्त में पहुंचाया जायेगा। इसके अलावे उन्हें अन्य खर्ज के लिए प्रति माह एक हजार रूपया का अनुदान दिया जायेगा। इस अवसर पर बाल्मिकिनगर के सांसद सतीश चंद्र दूबे, पश्चिम चम्पारण के सांसद डा. संजय जयसवाल, चनपटिया विधायक प्रकाश राय, नौतन विधायक नारायण साह, रामनगर विधायक भागीरथी देवी, बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रेणु देवी, बीजेपी के जिलाध्यक्ष गंगा प्रसाद पांडे तथा उपाध्यक्ष आनंद सिंह समेत कई बीजेपी नेता मौजूद रहे। वही इस मौके पर अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति प.चम्पारण की ओर से पत्रकारों का एक शिष्ट मंडल उप मुख्यमंत्री से मिलकर उन्हें अपने तीन सुत्री मांगो का एक ज्ञापन सौंपा। जिसपर उन्होंने सहानभूति पूर्वक विचार करने का सहमति जताई।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *