श्राद्ध कराना है तो ऑनलाइन बुकिंग करा लो !

यूं तो लोगों को पूरे साल भर किसी न किसी काम के लिए पंडितों की जरुरत पड़ती रहती है। लेकिन पंडितों की असल जरुरत श्राद्ध पक्ष से ही शुरू हो जाती है। श्राद्ध पक्ष के दौरान 15 दिनों तक चलने वाले इस कार्य के लिए पंडितों को अलग-अलग जगहों पर जाकर श्राद्ध करवाना होता है। हालांकि पंडितों और यजमानों दोनों के पास समय की किल्लत होती है। जिसके चलते आजकल ऑनलाइन श्राद्ध का ट्रेंड भी काफी पॉपुलर हो रहा है।

वैसे तो लोग आजतक केवल फिल्मों, फ्लाइट और ट्रेन आदि की टिकट ऑनलाइन बुक करवाते थे लेकिन आजकल श्राद्ध पक्ष के लिए भी ऑनलाइन बुकिंग की जा रही है वो भी एडवांस में। श्राद्ध पक्ष में यदि आपने किसी पंडित जी को पहले से ही पूजा के लिए नहीं कह रखा है तो बाद में उनकी खोज करना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में श्राद्ध पूजा में पंडित के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ती है लेकिन फिर भी कोई फायदा नहीं होता। ऐसे में बेहतर है कि आप भी इस नए ट्रेंड का लाभ उठाएं। पंडितों की ऑनलाइन बुकिंग से ये फायदा है कि वो कहीं और जाने के बजाय जिसकी बुकिंग है पहले वहां जाएंगे। इसके अलावा पहले से उनकी दक्षिणा भी फिक्स होगी। ऐन वक्त पर आप जिस पंडित को लेने जाएंगे उसकी दक्षिणा की डिमांड भी ज्यादा हो सकती है।

खासतौर से यह ट्रेंड विदेशों से ही शुरू होकर भारत में आया है। अब बहुत से भारतीय अपने पित्रों का श्राद्ध कराने के लिए ऑनलाइन श्राद्ध का ही सहारा ले रहे है। इसके अलवा ऑनलाइन बुकिंग का एक फायदा ये भी है कि यजमान पंडित से से ऑनलाइन जुड़कर उस प्रकिया का हिस्सा बन सकता है।

फीस

पितरों की आत्मा शांति के लिए इसकी फीस भी अलग-अलग है। यह 5-6 हजार रुपए से लेकर 50-60 हजार तक है। खास बात यह है कि लोग ऑनलाइन कि सुविधा के चलते बनारस, इलाहाबाद, हरिद्वार कहीं भी नदी किनारे श्राद्ध को तरजीह दे रहे हैं। आज इसके लिए ढेरों वेबसाइट कई तरह के ऑफर्स भी लेकर आ रही हैं। इसके अलावा श्राद्ध के दौरान पितृदोष निवारण और महापूजा के लिए बकायदा पैकेज भी मुहैया कराती हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *